अर्थशास्त्र नोबल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी ने भारतीय अर्थव्यवस्था पर जताई चिंता

मेरी समझ से भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत बहुत ही ख़राब - अभिजीत बनर्जी
Published: Tue, 19 Nov 2019 : Reporter by/Photo: Share

Author: Admin
Edited By: user

भारत में जन्मे अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी एस्टेयर ड्यूफलो के साथ माइकल क्रेमर को 2019 के अर्थशास्त्र का नोबेल सम्मान दिया गया है।  अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी ड्यूफलो अमरीका की मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में प्रोफ़ेसर है। 

नोबेल सम्मना की घोषण होने के बाद एमईटी में बनर्जी अपनी पत्नी के साथ पत्रकारों सवालो के जवाब दे रहे।  इसी दौरान उनसे एक पत्रकार ने भारतीय अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा की बहुत बुरी स्थिति है। 

बनर्जी ने कहा की भारत में लोग अभावग्रस्तता के कारण उपभोग में कटौती कर रहे है और गिरावट जिस तरह से जारी है उससे लगता है की इसे नियंत्रित नहीं किया जा सकता। 

बनर्जी और ड्यूफ्लो MIT के अर्थशास्त्र विभाग में प्रोफेसर है।  इन दोनों की शादी 2015 में हुई थी।  अभिजीत बनर्जी भारत में भी कई रिसर्च प्रोजेक्ट पर काम कर रहे है।  

भारतीय अर्थव्यवस्था पर पूछे गए सवाल के जवाब में बनर्जी ने कहा, "मेरी समझ से भारतीय अर्थव्यवस्था की हालत बहुत ही ख़राब है। NSS के डेटा देखें तो पता चलता है की 2014-15 और 2017-18 के बीच शहरी और ग्रामीण भारत के लोगो ने अपने उपभोग में भारी कटौती की है।  सालो बाद ऐसा पहली बार हुआ है।  यह संकट की शुरुआत है।"

पत्रकार के अनुरोध पर अभिजीत बनर्जी ने सवालो का जवाब अपनी मातृभाषा बांग्ला में भी दिया।  उनकी पत्नी ड्यूफलो फ़्रांस की है और उन्होंने भी अंग्रेजी के अलावा फ्रेंच में जवाब दिया।  

अभिजीत बनर्जी ने भारत में डेटा संग्रह के तरीको में हुए विवादित बदलाव पर भी बोला।  कई लोगो का आरोप है की भारत सरकार GDP ग्रोथ और राजस्व घाटे का जो देता दिखती है वो असल डेटा नहीं है।  ऐसा आरोप मोदी सरकार के आर्थिक सलाहकार रहे अरविन्द सुब्रमण्यम भी लगा चुके है अभिजीत बनर्जी ने कहा की सरकार के डेटा पर कई तरह के संदेह है।  


Click Here for Allahabad News - Social Education Entertainment Crime and Health