भारत में मंदी का ज्यादा असर :IMF

भारतीय बाजारो में इस साल मंदी असर 'ज्यादा साफ नज़र' आ रहा है : क्रिस्टेलिना जियॉरजीवा
Published: Tue, 15 Oct 2019 : Reporter by/Photo: Share

Author: user
Edited By: Admin

अन्तराष्ट्रीय मुद्रा कोष की नई  प्रबंध निदेशक क्रिस्टेलिना जियॉरजीवा का कहना है की वैसे तो इस वक्त समूचे विश्व की अर्थव्यवस्थाएं 'समकालिक मंदी' की चपेट में है, लेकिन भारत जैसी सबसे बड़ी उभरती बाजार अर्थव्यवस्थाओ  में इस साल इसका असर 'ज्यादा साफ नज़र' आ रहा है।  

क्रिस्टेलिना जियॉरजीवा ने कहा की वैश्विक अर्थव्यवस्था में आर्थिक सुस्ती देखी जा रही है, जिसके कारण 90 फीसदी देशो की विकास की रफ़्तार धीमी रहेगी।  तेजी से उभरती अर्थव्यवस्था के कारण भारत में सबसे ज्यादा इसका असर देखा जायेगा।  

बुल्गारिया की इकोनॉमिस्ट क्रिटालिना हॉल में ही IMF की निदेशक बानी है और उन्होंने क्रिस्टीन लगार्द का स्थान लिया है।  

IMF और वर्ल्ड बैंक की एक हफ्ते के बाद की संयुक्त सालाना बैठक होने वाली है जिसमे दोनों संस्थाएं अपने आर्थिक अनुमान पेश करेगी।  इसमें दुनिया के शीर्ष केंद्रीय बैंकर और वित्त मंत्री शामिल होंगे।  IMF प्रमुख ने चेतावनी दी है की 2019 और 2020 के लिए वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक एक जटिल हालत पेश करते है।  


Click Here for Allahabad News - Social Education Entertainment Crime and Health

Tags IMF