अनुच्छेद 370: भारतीय सेना द्वारा कथित तौर पर एक लड़के को पीटने का पुराना वीडियो वायरल

यह वीडियो पहले बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना द्वार किये गए अत्याचार के रूप में साझा किया गया था
Published: Tue, 15 Oct 2019 : Reporter by/Photo: Share

Author: Admin
Edited By: user

सोशल मीडिया में एक वीडियो कश्मीर में अत्याचार के दावे से प्रसारित है, जिसमे भारतीय सेना के जवान एक लड़के को बेरहमी से पीटते हुए दिख रहे है। कई व्यक्तिगत उपयोगकर्ताओं ने सामान दावे से यह वीडियो साझा किया है।  

यह वीडियो पहले बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना द्वार किये गए अत्याचार के रूप में साझा किया गया था।  

प्रसारित किया गया वीडियो हल का नहीं है बल्कि दो साल पुराना है।  PTI की रिपोर्ट, जिसे डेक्कन हेराल्ड ने प्रकाशित किया था, के मुताबिक, "पुलवामा डिग्री कॉलेज के एक छात्र को चार सेना के जवानो द्वार कथित तौर पर जमीं पर गिरा कर मारा गया" अनुवादित।  यह लेख 15 अगस्त, 2017  प्रकाशित हुआ था।  

कई मीडिया संगठन जिसमें पाकिस्तानी मीडिया भी शामिल है, उन्होंने इस कथित घटना को प्रकाशित किया था। द इंडियन एक्सप्रेस ने रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया के हवाले से बताया कि वीडियो की सत्यता का पता लगाया जा रहा है। कर्नल कालिया ने कहा,“दुराचार के दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी”-अनुवादित।

DNA के अनुसार, 2017 में एक व्यक्ति को सेना द्वारा जीप से बांधने और बड़गाम से उसे परेड करवाने के एक दिन बाद यह घटना हुई थी। सेना का मकसद “पत्थरबाजों” को नियंत्रण में लाना था।

इस वीडियो में कई ऐसे सुराग है जिससे पता चलता है कि यह वीडियो भारत में लिया गया था। एयरटेल और नेरोलैक के विज्ञापन, दोनों ही भारतीय कंपनियां हैं। इसके अलावा, दाईं ओर एक बैनर पर ‘श्रीनगर’ लिखा हुआ है।

इस तरह यह पुराना वीडियो अभी प्रसारित है, यह दिखाने के लिए कि अभी की घटना है। इससे पहले भी, पिछले साल हुए कुलगाम ब्लास्ट का वीडियो अभी कश्मीर की स्थिति के रूप में साझा किया गया था। वर्ष 2018 में सेना द्वारा लोगों को अपने बचाव के लिए मानव ढाल के रुप में इस्तेमाल करने का वीडियो प्रसारित किया गया था।

 


Click Here for Allahabad News - Social Education Entertainment Crime and Health