नामांकन दाखिल करते समय राहुल गांधी और अमित शाह के व्यवहार में अंतर? जानें सच!

इस घटना के उपलब्ध वीडियो पूरी तरह से अलग दृश्य दिखलाते हैं।
Published: Tue, 15 Oct 2019 : Reporter by/Photo: Share

Author: user
Edited By: Admin

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनके भाजपा समकक्ष अमित शाह की 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने की तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हैं। तुलना करते हुए एक साथ रखी गई दोनों तस्वीरों को इस कैप्शन के साथ शेयर किया जा रहा है — “पार्टियों में अंतर “। एक साथ राखी गई तस्वीरों को देखकर ऐसा लगता है जैसे अमित शाह चुनाव आयोग के अधिकारी को अपना नामांकन पत्र सौंपने के दौरान उठ खड़े हुए थे, जबकि राहुल गांधी चुनाव आयोग के अधिकारी को अपना नामांकन पत्र सौंपने के दौरान बैठे थे और उन्हें लेने के लिए अधिकारी को उठना पड़ा था।
भाजपा के कई पार्टी सदस्यों और नेताओं ने ट्विटर पर इस कोलाज को प्रसारित किया है। जिनका परिचय, पार्टी में उनके पदों को बतलाते हैं — कर्नाटक भाजपा महासचिव एन रवि कुमार, महाराष्ट्र भाजपा युवा सचिव राज दीक्षित, गांधीनगर भाजपा महिला इकाई सचिव अनीता जयेश पटेल और भाजपा मुंबई उत्तर महासचिव उमेश मोटवानी।

तस्वीर प्रस्तुत करने में अंतर
सोशल मीडिया में वायरल राहुल गांधी की तस्वीर कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा अमेठी से उनके लोकसभा नामांकन पत्र दाखिल करने का प्रतिनिधित्व करती है। तस्वीर पर एक नज़र डालने से यह धारणा बनती है कि कांग्रेस अध्यक्ष अपना नामांकन पत्र सौंपते समय बैठे थे, जबकि चुनाव आयोग के अधिकारी को कागज़ात स्वीकार करने के लिए खड़ा होना पड़ा था। हालांकि, इस घटना के उपलब्ध वीडियो पूरी तरह से अलग दृश्य दिखलाते हैं।
राहुल गांधी ने अमेठी के जिला कलेक्टर कार्यालय में अपने कागजात दाखिल किए। कलेक्टर की टेबल की ऊंचाई के कारण वह बैठे हुए लगते हैं। डेस्क की ऊंचाई गांधी की छाती तक थी, जिससे यह प्रतीत होता है कि वह बैठे हों, जबकि, वह वास्तव में खड़े थे। इसे अलग एंगल से देखने पर स्पष्ट हो जाता है कि गांधी बैठे नहीं थे।
राहुल गांधी को अशिष्ट और अमित शाह को विनम्र दिखलाने के लिए, एक भ्रामक दृश्य धारणा व्यापक रूप से प्रसारित की गई। चुनावों की शुरुआत से ही, राहुल गांधी को फोटोशॉप तस्वीरों और निर्मित अखबार की क्लिपिंग के सहारे भी निशाना बनाया गया है।


Click Here for Allahabad News - Social Education Entertainment Crime and Health