अब वारण्ट के बिना तलाशी लेने और गिरफ्तार करने की शक्ति – सीएम योगी का ड्रीम प्रोजेक्ट पूरा

लखनऊ : सीएम योगी के ड्रीम प्रोजेक्ट UPSSF का गठन। गृह विभाग के UPSSF गठन प्रस्ताव पर डीजीपी ने दी सहमति। विशेष बल को विशिष्ट कार्य के लिए बनेगी अलग से अधिकार नियमावली।

इन नियमावली में मुख्य रूप से वारण्ट के बिना तलाशी लेने की शक्ति होगी UPSSF के पास बिना मजिस्ट्रेट के आदेश, बिना वारण्ट के कर सकेगी गिरफ्तार।

हालाँकि 5 बटालियन के गठन पर करीब ₹1747.06 करोड़ खर्च होंगे लेकिन यह कदम देश की सुरक्षा के लिए लिया गया है।

महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की सुरक्षा में अभी 9,919 कर्मी होंगे तैनात प्रथम चरण में 5 बटालियन के गठन के लिए 1,913 नये पदों का होगा सृजन।

प्रथम चरण में पीएसी का सहयोग लेकर शुरू होगी UPSSF । UPSSF के अधिकारियों, सदस्यों की भर्ती यूपी पुलिस भर्ती प्रोन्नति करेगा। उच्च न्यायालय, जिला कोर्ट, प्रशासनिक कार्यालय, तीर्थ स्थल, मेट्रो रेल, हवाई अड्डा, बैंक अन्य वित्तीय, शैक्षिक संस्थान, औद्योगिक संस्थान आदि की सुरक्षा करेगी UPSSF ।

इस बात की जानकारी अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने दी।