नीलकंठ भानु सबसे तेज़ ‘ह्यूमन कैलकुलेटर’ – भारत को गोल्ड

हैदराबाद :नीलकंठ भानु गणित के फोबिया को पूरी तरह मिटाना” चाहते हैं। उनका मन्ना है की वह हर समय गणित में खोये रहना चाहते हैं। उन्हें दुनिया भर से आये लोगों में सबसे तेज़ ह्यूमन कैलकुलेटर चुना गया है। इस प्रतियोगिता में भारत को गोल्ड मैडल मिला है।

गणित के साथ उनके इस सफ़र की शुरुआत पांच साल की उम्र में हुई। तब उनके साथ एक दुर्घटना हो गई थी। उनके सिर में चोट लगी और वो एक साल के लिए बिस्तर पर रहे।

“मेरे माता-पिता को कहा गया था कि मेरे देखने-सुनने-समझने की क्षमता पर असर पड़ सकता है”
“तब मैंने अपने दिमाग को व्यस्त रखने के लिए मेंटल मैथ्स कैलकुलेशन करना शुरू किया”

भानु ने अब तक चार विश्व रिकॉर्ड और कई अन्य उपलब्धियां अपने नाम की हैं. भानु के परिवार को अपने बेटे पर बहुत गर्व है।
वो अपने परिवार को उन्हें प्रोत्साहित करने और ज़मीन से जुड़ा रहने की प्रेरणा देना का श्रेय देते हैं।

क्या कहते हैं भानु
“जब मैंने अपनी पहली अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता जीती तो मेरे अंकल ने कहा था कि मुझे इतना तेज़ बनना चाहिए, जितना आज तक कोई हो ही ना”

“मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि मैं सबसे तेज़ ह्यूमन कैलकुलेटर बन जाऊंगा”